5 दिन पहले अंतरिक्ष में मार गिराया था सैटेलाइट, अब भारत के वैज्ञानिकों ने कर दिया एक और बड़ा मिशन पूरा, दुश्मनों की नहीं होगी खैर


नेशनल डेस्क,चेन्नईभारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने सोमवार को श्रीहरिकोटा के सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से 29 नैनो सैटेलाइट्स लॉन्च किए। इनमें भारत का एमिसैट, 24 अमेरिका के, 2 लिथुआनिया के और 1-1 उपग्रह स्पेन और स्विट्जरलैंड के हैं। पहली बार इसरो का मिशन एकसाथ तीन कक्षाओं के लिए भेजा गया। यह लॉन्चिंग सुबह 9:27 बजे पीएसएलवी-सी45 रॉकेट की मदद से की गई। एमिसैट सैटेलाइट सीमा पर नजर रखने में मददगार होगा।

लॉन्च किए गए भारतीय उपग्रह एमिसैट का इस्तेमाल इलेक्‍ट्रोमैग्‍नेटिक स्‍पेक्‍ट्रम को मापने के लिए किया जाएगा। इसके जरिए दुश्मन देशों के रडार सिस्टम पर नजर रखने के साथ ही उनकी लोकेशन का भी पता लगाया जा सकेगा। भेजे जा रहे उपग्रहों में एमिसैट का वजन 436 किलोग्राम और बाकी 28 उपग्रहों का कुल वजन 220 किलोग्राम है।

पूरा अभियान 180 मिनट का

पहले 17 मिनट पूरे होने पर पीएसएलवी ने 749 किलोमीटर की ऊंचाई पर एमिसैट को स्थापित किया। इसके बाद चौथे चरण में लगे सोलर पावर इंजन को चलाकर करीब 504 किलोमीटर की ऊंचाई पर लाया गया और यहां 28 विदेशी सैटेलाइट्स स्थापित किए गए। चौथे चरण में ही रॉकेट को 485 किलोमीटर ऊंचाई पर लाकर तीन प्रायोगिक पेलोड की मदद से चंद्रयान-2 अभियान से जुड़े कुछ खास प्रयोग किए जाने हैं।

एमिसैट क्या करेगा?
एमिसैट को इसरो और डीआरडीओ ने मिलकर बनाया है। यह उपग्रह देश की सुरक्षा के लिहाज से बेहद अहम है। इसका खास मकसद सीमा पर इलेक्ट्रॉनिक या किसी तरह की मानवीय गतिविधि पर नजर रखना है।

पीएसएलवी दुनिया का सबसे भरोसेमंद लॉन्च व्हीकल
इस बार पीएसएलवी-सी45 से 29 सैटेलाइट लॉन्च किए जाएंगे। पीएसएलवी की यह 47वीं उड़ान होगी। यह बेहद भरोसेमंद लॉन्च व्हीकल माना जाता है। जून 2017 अपनी 39वीं उड़ान के साथ पीएसएलवी दुनिया का सबसे भरोसेमंद सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल बना। 104 सैटेलाइट्स लॉन्च करने के लिए वैज्ञानिकों ने पीएसएलवी के पावरफुल एक्सएल वर्जन का इस्तेमाल किया था। 2008 में मिशन चंद्रयान और 2014 में मंगलयान भी इसी के जरिए पूरे हो पाए थे।

दो साल पहले इसरो ने रचा था इतिहास
15 फरवरी 2017 को इसरो ने एक साथ सबसे ज्यादा सैटेलाइट्स लॉन्च करने का वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया था। 30 मिनट में एक रॉकेट के जरिए 7 देशों के 104 सैटेलाइट्स एक साथ लॉन्च किए थे। इससे पहले यह रिकॉर्ड रूस के नाम था। उसने 2014 में एक बार में 37 सैटेलाइट्स लॉन्च किए थे।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


isro pslv c45 launch, emisat and 28 foreign satellites

पंचायत के 8000 परिवार सिर्फ ऑर्गेनिक सब्जियां उगाते हैं, पिछले साल 160 करोड़ रु. का कारोबार हुआ


कांजीकुझी (केरल). 2018 में 40000 टन से ज्यादा ऑर्गेनिक सब्जियां उगाने वाली केरल की एक पंचायत पूरे राज्य के लिए आदर्श बन गई है। कांजीकुझी के 8000 से ज्यादा परिवार सिर्फ ऑर्गेनिक सब्जियां उगाते हैं। पिछले साल करीब 160 करोड़ रुपए का कारोबार हुआ। इससे हर परिवार को करीब 2 लाख रुपए की कमाई हुई। कांजीकुझी को केरल की पहली ऑर्गेनिक पंचायत बनने में दो दशक लगे हैं।

दरअसल, 18 वार्डों वाली इस पंचायत के लोगों का प्रमुख काम कॉयर (नारियल की जटा) बनाने का था। इसकी कम होती मांग ने लोगों की आर्थिक स्थिति बिगाड़ दी। पंचायत प्रमुख एनजी राजू बताते हैं कि लोगों की रुचि खेती में बिल्कुल नहीं थी। फल-सब्जियों के लिए दूसरे राज्यों पर ही निर्भर रहना पड़ता था। यहां की जमीन रेतीली है, बेहद सूखी और खेती के लिए बिल्कुल बेकार है।

पंचायत में हर घर को सब्जी उगाना अनिवार्य

ऐसे में लोगों को खेती के लिए मनाना आसान नहीं था। राजू बताते हैं कि 1995 में पंचायत ने हर घर के लिए सब्जी उगाना अनिवार्य कर दिया। पंचायत द्वारा ही बीज और जरूरी सहायता दी गई। उद्देश्य यह था कि पंचायत के लोग आय के दूसरे विकल्पों की ओर देखें। लगातार निगरानी और लोगों की सक्रिय भागीदारी से कांजीकुझी ने सफलता की कहानी रच दी।

खेती के लिए तैयार नहीं थे, अब राज्य के श्रेष्ठ किसान
इसी पंचायत में रहने वाले दिव्या और ज्योतिष ने शादी के बाद एक एकड़ जमीन खरीदकर ऑर्गेनिक सब्जी उगाना शुरू किया। ज्योतिष बताते हैं कि वह खेती के लिए तैयार नहीं थे, सबसे बड़ी समस्या सब्जी बेचने की थी। ऑटो में सब्जियां लेकर जाना पड़ता था। लेकिन बिक्री केंद्र खुलने के बाद यह आसान हो गया है। दिव्या को 2014-15 के लिए राज्य की सर्वश्रेष्ठ किसान का अवॉर्ड मिला है। अब वह पंचायत की सदस्य भी हैं।

ऑर्गेनिक खेती:

  • सबसे ज्यादा किसान भारत में, 4000 करोड़ रुपए का बाजार
  • दुनिया में ऑर्गेनिक खेती करने वाले किसान 27 लाख हैं। इनमें 8.35 लाख भारत में हैं। दूसरे नंबर पर युगांडा (2.10 लाख) और तीसरे पर मेक्सिको(2.10 लाख) है।
  • 2016 में 6.21 लाख करोड़ के ऑर्गेनिक उत्पाद बेचे गए। 2022 तक 18 लाख करोड़ की इंडस्ट्री हो जाएगी।
  • भारत में ऑर्गेनिक उत्पादों का बाजार 2018 तक 4000 करोड़ रुपए का है। 2020 तक इसके 12,000 करोड़ रुपए तक होने का अनुमान है।

(स्रोत: वर्ल्ड ऑफ ऑर्गेनिक कल्चर रिपोर्ट-2018, ईएंडवाय, एसोचैम)

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


eight thousand families of a panchayat in kerala grow only organic vegetables

साथ में भोजन करने से संबंध सुधरते हैं, रिसर्च भी यही कहती है


कॉर्नल यूनिवर्सिटी और शिकागो यूनिवर्सिटी ने हाल ही में एक रिपोर्ट में बताया है कि अगर परिवार की तरह साथ-साथ भोजन किया जाए तो दो लोगों या देशों के बीच संबंध सुधरते हैं। इसी कारण अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी डिनर डिप्लोमेसी बेहतर परिणाम दिखाती है। वर्ष 2017 में आए एक रिसर्च में भी कहा गया कि यदि दो लोग साथ में एक ही भोजन करते हैं तो वे इमोशनली जुड़ जाते हैं। कॉर्नल यूनिवर्सिटी के रिसर्चर कैटलिन वूली कहते हैं कि यह बात अनजान लोगों के साथ भी इसी तरह काम करती है।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


eating together improves relationships

देश में 25 वर्षों में औसत आयु 8.4 साल बढ़ी, बिहार में पुरुषों से कम जीती हैं महिलाएं


भास्कर रिसर्च.देश के लोगों की औसत आयु (जीवन प्रत्याशा) पिछले 25 वर्षों में 8.4 साल बढ़ गई है। 1991 में लोगों की जीवन प्रत्याशा 60.3 थी, जो 2016 में बढ़कर 68.7 वर्ष हो गई है। खास बात यह है कि पुरुषों की तुलना में महिलाओं की औसत आयु में ज्यादा सुधार हुआ है।

1993 से 97 के बीच पुरुषों की औसत आयु 60.4 वर्ष और महिलाओं की औसत आयु 61.8 वर्ष थी। 2012 से 2016 के बीच यह बढ़कर क्रमश: 67.4 वर्ष और 70.2 वर्ष हो गई। यानी पुरुषों की औसत आयु इन वर्षों में सात साल बढ़ी, जबकि इसी दौरान महिलाओं की औसत आयु 8.4 साल बढ़ गई। देश में बिहार एक मात्र ऐसा राज्य है, जहां महिलाओं की औसत आयु पुरुषों से कम है। बिहार में पुुरुषों की औसत आयु 68.9 वर्ष है, जबकि महिलाओं की औसत आयु 68.5 है।

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया द्वारा हाल ही में जारी हैंडबुक स्टेटिस्टिक्स 2019 के आंकड़ों में यह बात सामने आई है। राज्यों के हिसाब से देखें तो देश में पुरुषों की सबसे कम औसत आयु छत्तीसगढ़ में (63.6 वर्ष) है। पुरुषों की औसत आयु के मामले में मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ हमेशा से ही पीछे रहे हैं।

1991 में यहां (तब मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ संयुक्त थे) पुरुषों की औसत आयु देश में सबसे कम 55.6 वर्ष थी। तब यहां महिलाओं की औसत आयु पुरुषों से भी कम 55.2 वर्ष थी। फिलहाल महिलाओं की सबसे कम औसत आयु उत्तर प्रदेश में (65.6 वर्ष) है। पुरुषों की औसत आयु के मामले में दिल्ली सबसे आगे है, जहां इनकी औसत आयु (72.7 वर्ष) है। महिलाओं की सर्वाधिक औसत आयु केरल में (77.9 वर्ष) है।

सबसे अधिक जीवन प्रत्याशा वाले तीन राज्य

राज्य पुरुष महिला
दिल्ली 72.7 75.9
केरल 72.2 77.9
जम्मू-कश्मीर 71.6 76.2

सबसे कम जीवन प्रत्याशा वाले तीन राज्य

राज्य पुरुष महिला
छत्तीसगढ़ 63.6 66.8
मध्यप्रदेश 63.7 67.2
उत्तर प्रदेश 63.9 65.6

sundayjacket

इन राज्यों में यह स्थिति

राज्य पुरुष महिला
बिहार 68.9 68.5
झारखंड 67.8 68
राजस्थान 66.1 70.7
गुजरात 67.4 71.8
पंजाब 71 74.2
हरियाणा 67.2 72
महाराष्ट्र 70.8 73.7

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


Average life span increased by 8.4 years in 25 years

अप्रैल में ही होने लगी चिलचिलाती धूप, 3 लोगों की हीट स्ट्रोक ने ली जान, सरकार ने तुरंत जारी किया अलर्ट, बताया इस गर्मी में हीट स्ट्रोक से बचने के लिए क्या करें


हेल्थ डेस्क। मार्च के पहले हफ्ते में ही देशभर में गर्मी तेजी से बढ़ी है। केरल में टेम्प्रेचर इतना बढ़ गया कि 3 लोगों की हीट स्ट्रोक के चलते जान चली गई। अब वहां राज्य सरकार ने अलर्ट जारी करते हुए लोगों को हीट से बचने से सलाह दी है।

क्या होता है हीट स्ट्रोक
– हीट स्ट्रोक (लू) को सनस्ट्रोक भी कहा जाता है। हाई टेम्प्रेचर के चलते जब बॉडी का टेम्प्रेचर बढ़ जाता है, तब व्यक्ति इसका शिकार हो जाता है। बॉडी का टेम्प्रेचर 40 डिग्री सेल्सियस या इससे ज्यादा बढ़ जाने पर इस तरह की प्रॉब्लम हो सकती है।

– हीट स्ट्रोक एक इमरजेंसी कंडीशन होती है, जिसमें तुरंत इलाज की जरूरत होती है। समय पर इलाज न मिलने से यह ब्रेन, हार्ट, किडनी को नुकसान पहुंचा सकता है। ज्यादा देर हो गई तो यह स्थिति को बहुत बिगाड़ देता है और इससे जान तक चली जाती है।

– ह्युमन बॉडी रोजान अलग-अलग टेम्प्रेचर से गुजरती है। टेम्प्रेचर के हिसाब से बॉडी खुद को अपने आप एडजस्ट कर लेती है। बॉडी पसीने के जरिए भी टेम्प्रेचर को मेंटेन करती है।
– लेकिन जब बॉडी टेम्प्रेचर तेजी से बढ़ता है तो बॉडी के नेचुरल मैकेनिज्म को ऐसे इफेक्ट्स को हैंडल करने के लिए पूरा टाइम नहीं मिल पाता। यही स्थिति हीट स्ट्रोक कहलाती है।
– सिर दर्द होना, चक्कर आना, भ्रमित होना, बहुत पसीना बहना, सांस लेने में तकलीफ होना जैसी चीजें हीट स्ट्रोक का संकेत हो सकते हैं। ऐसा होने पर संबंधित व्यक्ति को तुरंत ठंडे स्थान पर ले जाना चाहिए।

– तरल पदार्थ देकर उसे नॉर्मल करने की कोशिश करना चाहिए। तुरंत इसका असर न दिखे तो बिना देरी के मेडिकल ट्रीटमेंट लेना चाहिए।

आम लोगों को किन बातों को फॉलो करने का कहा
– सुबह 11 से दोपहर 3 बजे के बीच सूरज की रोशनी में सीधे जाने से बचें।
– डिहाइड्रेशन से बचने के लिए अपने साथ हमेशा पानी की बॉटल रखें।
– साफ पानी ही पीएं। चाय और कॉफी को अवॉइड करें।
– लाइट कलर के कपड़े पहनें। यह सूरज की किरणों को रिफ्लेक्ट करते हैं और बॉडी को हीट से बचाते हैं।
– बाहर जाना जरूरी हो तो छाता साथ लेकर निकलें। आंखों पर चश्मा लगाएं।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


How to Prevent Heat Stroke

मारुति की बिक्री मार्च में सालाना आधार पर 1.6% घटी, मिनी कारों की सेल में 55% कमी


नई दिल्ली. मारुति सुजुकी की बिक्री मार्च महीने में 1.6% घटकर 1,58,076 यूनिट रह गई। पिछले साल मार्च में कंपनी ने 1,60,598 कारें बेची थीं। मार्च 2018 के मुकाबले मार्च 2019 में यह गिरावट आई है। पिछले महीने 16,826 मिनी गाड़ियों की बिक्री हुई। जबकि, पिछले साल मार्च में 37,511 गाड़ियां बिकी थीं। मिनी कारों में अल्टो भी शामिल है।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


Maruti reports 1.6% dip in March sales at 1,58,076 units

जो लोग पैन कार्ड को आधार से लिंक नहीं कर पाए उनके लिए खुशखबरी, केंद्र सरकार ने इस तारीख तक बढ़ा दी लिंक करने की सुविधा लेकिन अब भी लिंक नहीं किया तो आज से नहीं कर पाएंगे ये काम


न्यूज डेस्क। सरकार ने आधार को परमानेंट अकाउंट नंबर (PAN) के साथ लिंक करने की समयसीमा 30 सितंबर 2019 तक बढ़ा दी है। बता दें कि 1 अप्रैल 2019 से इनकम का रिटर्न भरने के लिए पैन कार्ड का आधार से लिंक होना जरूरी है। हालांकि विशेष छूट मिलने पर की कंडीशन में यह शर्त अनिवार्य नहीं होगी। जानिए आप कैसे आधार को पैन से लिंक कर सकते हैं।

कैसे करें लिंक
– इनकम टैक्स की वेबसाइट incometaxindiaefiling.gov.in पर ‘Aadhaar link’ के ऑप्शन में जाकर आप पैन को आधार से लिंक कर सकते हैं।
– SMS के जरिए भी लिंक किया जा सकता है। यूजर को 567678 or 56161 पर मैसेज भेजना होगा। इसका फॉर्मेट ये होगा –
UIDPAN<12-digit Aadhaar><10-digit PAN>।
– आप इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) ऑनलाइन (e-Filing) में भी आधार को पैन से लिंक करने की रिक्वेस्ट सबमिट कर सकते हैं। इसकी लिंक NSDL की वेबसाइट www.tin-nsdl.com पर उपलब्ध है।

ये है लिंक करने का सबसे आसान तरीका
– incometaxindiaefiling.gov.in पर लॉगइन करें।
– अब ‘Linking Aadhaar’ पर जाएं। अब एक नई विंडो ओपन होगी।
– यहां अपनी इंफॉर्मेशन जैसे नाम, डेट ऑफ बर्थ, जेंडर आदि डालें।
– आधार कार्ड नंबर और कैप्चा डालें।
– अब ‘Link Aadhaar’ पर क्लिक करें।
– लिंक होते ही आपके पास मैसेज आ जाएगा।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


PAN-Aadhaar linkage deadline extended

यहां गायों को लेकर किया जा रहा है एक अनोखा प्रयोग


इंटरनेशनल डेस्क। एम्सटर्डम. नीदरलैंड में गायों के लिए टॉयलेट बनाए जा रहे हैँ, ताकि देश में अमोनिया से होने वाला प्रदूषण कम किया जा सके। हालांकि, अभी यह प्रयोगिक स्तर पर ही है। इसके तहत डच वैज्ञानिक हेंक हेन्सकैंप ने गायों के लिए नई यूरिनल डिवाइस बनाई है।

खेती के क्षेत्र में नीदरलैंड का विश्व में दूसरा स्थान
हेंक के फार्म में इस डिवाइस की मदद से रोजाना 15 से 20 लीटर गाय की यूरिन एकत्रित की जा जाती है। उन्होंने एक परीक्षण में पाया था कि गाय की यूरिन से निकलने वाला अमोनिया पर्यावरण को प्रदूषित करता है। नीदरलैंड अमेरिका के बाद खेती में दूसरे स्थान पर है ऐसे में यहां मवेशियों की तादाद बहुत ज्यादा है। इनसे बड़ी मात्रा में अमोनिया उत्पन्न होती है। इस समस्या से पूरा देश जूझ रहा है। हेंक की बनाई डिवाइस खुले मैदान में यूरिन करने के बाद उत्पन्न अमोनिया की मात्रा को आधे से ज्यादा कम कर देती है।

हेंक ने कहा, यदि पर्याप्त साधन हों तो इस समस्या को आसानी से दूर किया जा सकता है।
यदि आप सिखाएं तो गाय भी टॉयलेट जाना सीख जाती हैं। गायों को टॉयलेट की आदत लगाना ठीक अडरली (दूध दोहने वाली डिवाइस) की तरह ही होता है। फिलहाल, इन टॉयलेट्स का परीक्षण पूर्वी डच शहर डोटिनचेम के पास एक फार्म में किया जा रहा है। यहां 58 में से सात गाय पहले ही टॉयलेट्स का इस्तेमाल करना सीख गई हैं। टॉयलेट बॉक्स गायों के पीछे पूंछ के पास रखा जाता है। गाय को यह आदत सिखानी होती है कि वे यूरिन टॉयलेट बॉक्स में ही करें।कंपनी का लक्ष्य है कि यह टॉयलेट्स बॉक्स 2020 तक बाजार में आ जाएं और देशभर में इसका इस्तेमाल किया जाने लगे। हेंस की कंपनी खेती से जुड़े दूसरे उपकरण भी बनाती है, जिनकी बाजार में काफी मांग है।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


Teaching cow toilets and new bovine urinal in Netherlands for environmental damage

गरीब विधवा के घर रोटी खाकर ट्रोल हो रहे डॉक्टर संबित पात्रा का देवी पाठ सुनाते वीडियो वायरल, तीखी बहस के साथ संस्कृत में भी हैं निपुण



वीडियो डेस्क. पुरी से लोकसभा चुनाव लड़ रहे बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता डॉ संबित पात्रा इन दिनों चर्चा में है। पुरी के ही एक गांव में गरीब विधवा के घर खाना खाते पात्रा का वीडियो खासा वायरल हो रहा है। यूजर्स उन्हें ट्रोल करते हुए मुफ्त एलपीजी कनेक्शन वाली उज्ज्वला योजना की याद दिला रहे हैं। वहीं अब सोशल मीडिया पर ‘क्लासिकल सिंगर’ पात्रा का वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें पात्रा शुद्ध संस्कृत में महिषासुर मर्दिनी पाठ करते नजर आ रहे हैं। पेशे से सर्जन पात्रा का ये रूप देख यूजर्स भी आश्चर्यचकित हैं।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


Classical singer sambit patra mahishasura mardini path video viral: BJP spokesperson sambit patra latest news in hindi: Dainik Bhaskar

Sarkari Naukri Himachal Pradesh: 1063 पोस्ट पर होगी मेल-फीमेल पुलिस कॉन्स्टेबल की भर्ती, शिमला रहेगी जॉब लोकेशन


न्यूज डेस्क। डायरेक्टर जनरल पुलिस, पुलिस हेडक्वार्टर, शिमाल, हिमाचल प्रदेश ने 1063 वैकेंसी के लिए नोटिफिकेशन जारी किया है। इन खाली पोस्ट पर मेल कॉन्स्टेबल जनरलर ड्यूटी, मेल कॉन्स्टेबल ड्राइवर और फीमेल कॉन्स्टेबल जनरलर ड्यूटी की रिक्रूटमेंट की जाएगी। इन पोस्ट पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की प्रोसेस 30 मार्च से शुरू हो चुकी है। 30 अप्रैल, 2019 रजिस्ट्रेशन की लास्ट डेट है।

पोस्ट का नाम और कुल वैकेंसी

मेल कॉन्स्टेबल जनरलर ड्यूटी : 720 पोस्ट
मेल कॉन्स्टेबल ड्राइवर : 130 पोस्ट
फीमेल कॉन्स्टेबल जनरलर ड्यूटी : 213 पोस्ट

नोट : सभी पोस्ट की जॉब लोकेशन शिमला रहेगी। जनरल कैटेगरी कैंडिडेट्स को 140 रुपए और SC/ST/OBC/IRDP कैंडिडेट्स को 35 रुपए एप्लिकेशन फीस देनी होगी।

ऐसे करें अप्लाई

जो कैंडिडेट्स इन पोस्ट पर अप्लाई करना चाहते हैं उन्हें अपनी एप्लिकेशन हिमाचल प्रदेश की ऑफिशियल वेबसाइट hppolice.gov.in पर जाकर ऑनलाइन भेजना है। इसकी लास्ट डेट 30 अप्रैल, 2019 है।

जॉब नोटिफिकेशन देखने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


Sarkari Naukri Himachal Pradesh Police Recruitment 2019: Latest Sarkari Naukri, Police Headquarters, Himachal Pradesh, Shimla, 1063 Posts Constable Male and Female Constable apply to hppolice.gov.in